प्रथम क्रिकेट विश्व कप

प्रथम क्रिकेट विश्व कप

दोस्तों क्या आपको पता है कि प्रथम विश्व कप क्रिकेट इंग्लैंड में वर्ष 1975 में खेला गया था। 7 जून से 21 जुलाई तक खेली गई इस प्रतियोगिता में आठ टीमों ने हिस्सा लिया था। आठ टीमों को चार-चार के दो ग्रुपों में रखा गया था। हर ग्रुप की शीर्ष दो टीमों को सीधे सेमी फ़ाइनल में प्रवेश दिया गया था।

 

ग्रुप एक                  ग्रुप दो

इंग्लैंड                   वेस्टइंडीज़

न्यूज़ीलैंड                 ऑस्ट्रेलिया

भारत                    पाकिस्तान

ईस्ट अफ़्रीका              श्रीलंका

 

 

उस समय 60-60 ओवर का एक मैच होता था। इस प्रकार मैच में कुल 120 ओवर फैंके जाते थे। इस विश्व कप में भारत के कप्तान थे श्रीनिवास वेंकटराघवन। भारत इस विश्व कप में सिर्फ़ एक मैच जीत पाया, वो भी ईस्ट अफ़्रीका के ख़िलाफ़। ईस्ट अफ़्रीका के ख़िलाफ़ मैच में भारत ने 10 विकेट से जीत हासिल की। इस मैच में सुनील गावसकर ने 86 गेंद पर नाबाद 65 रनों की पारी खेली और पारी में नौ चौके भी लगाए। पहले ग्रुप से इंग्लैंड और न्यूज़ीलैंड की टीमें सेमी फ़ाइनल में पहुँचीं, तो दूसरे ग्रुप से मौक़ा मिला वेस्टइंडीज़ और ऑस्ट्रेलिया को। पहला सेमी फ़ाइनल इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुआ, जिसमें ऑस्ट्रेलिया ने चार विकेट से जीत दर्ज की। कम स्कोर वाले इस मैच में पहले खेलते हुए इंग्लैंड की टीम सिर्फ़ 93 रन बनाकर आउट हो गई। जबाव में ऑस्ट्रेलिया ने लक्ष्य हासिल करने के लिए छह विकेट गँवा दिए। दूसरे सेमीफ़ाइनल में वेस्टइंडीज़ की टीम का मुक़ाबला था न्यूज़ीलैंड से। वेस्टइंडीज़ की टीम को विश्व कप का सबसे बड़ा दावेदार माना जा रहा था और उसने निराश भी नहीं किया। वेस्टइंडीज़ ने पाँच विकेट से जीत हासिल की। पहले खेलते हुए न्यूज़ीलैंड ने 158 रन बनाए। वेस्टइंडीज़ ने पाँच विकेट गँवाकर की लक्ष्य हासिल कर लिया। कालीचरण ने 72 और ग्रीनिज़ ने 55 रनों की शानदार पारी खेली।

 

 

फ़ाइनल में लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर वेस्टइंडीज़ का मुक़ाबला हुआ ऑस्ट्रेलिया से। मैच काफ़ी रोमांचक था और इस ऐतिहासिक मैच में पहला विश्व कप जीतने का गौरव हासिल किया वेस्टइंडीज़ ने। कप्तान क्लाइव लॉयड की अगुआई में टीम ने अच्छा प्रदर्शन किया और 17 रनों से जीत हासिल की। वेस्टइंडीज़ ने क्लाइव लॉयड के शानदार शतक (102) और रोहन कन्हाई के 55 रनों की मदद से 60 ओवर में आठ विकेट पर 291 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया ने अच्छी चुनौती दी, लेकिन उनकी टीम 58.4 ओवर में 274 रन बनाकर आउट हो गई। ऑस्ट्रेलिया के पाँच बल्लेबाज़ रन आउट हुए। इस प्रकार प्रथम विश्व क्रिकेट चैम्पियन बना वेस्टइंडीज़।

लवप्रीत सिंह

कक्षा – आठवीं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *