बहुव्रीहि समास

प्रश्न – बहुव्रीहि समास किसे कहते हैं ?

उत्तर – जिस समास के दोनों पदों के अतिरिक्त कोई अन्य अर्थ प्रधान हो उसे बहुव्रीहि समास कहते हैं। जैसे –

त्रिलोचन – तीन लोचन हैं जिसके अर्थात् शिव

मुरलीधर – मुरली को धारण किया है जिसने अर्थात् श्रीकृष्ण

दशानन – दश है आनन (मुख) जिसके अर्थात् रावण

नीलकंठ – नीला है कंठ जिसका अर्थात् शिव

विषधर – विष धारण किया है जिसने अर्थात् शिव

सुलोचना – सुंदर है लोचन जिसके अर्थात् मेघनाद की पत्नी

महावीर – महान हैं वीर जिसके अर्थात् हनुमान

पीतांबर – पीले है अम्बर (वस्त्र) जिसके अर्थात् श्रीकृष्ण

लंबोदर – लंबा है उदर (पेट) जिसका अर्थात् गणेशजी

दुरात्मा – बुरी आत्मा वाला (कोई दुष्ट)

सत्यप्रिय – सत्य प्रिय है जिसे अर्थात् विशेष व्यक्ति

श्वेतांबर – श्वेत है जिसके अंबर (वस्त्र) अर्थात् सरस्वती जी

पीताम्बर – पीले अम्बर हैं जिसके अर्थात् सरस्वती

समास Home

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *