हार किसने चुराया

हार किसने चुराया ?

“मेरे मित्र को छूने की कोशिश भी मत करना। उसका आरोप अभी साबित नहीं हुआ। मुझे पूरा विश्वास है कि वह ऐसा कुछ भी नहीं कर सकता।”, जैक अपने मित्र रवि का हाथ  पकड़ कर उसके आगे दीवार की तरह खड़ा हो कर कहता है।

सभी लोग चुप हो जाते हैं। रवि पर जैक की माँ सीमा ने हार चुराने का आरोप लगाया है। जैक अपनी माँ के खिलाफ खड़ा होकर रवि का साथ दे रहा है। सभी लोग जैक के इस रूप को देखकर बहुत हैरान हैं।

“क्या तुम पागल हो गए हो? क्या तुम जानते नहीं रवि कितना गरीब है? उसने तुम्हारी माँ का हार पैसा पाने के लिए चुराया है। तुम उसे धक्के मारकर यहाँ से निकालने की बजाए उसका साथ दे रहे हो।”, जैक के पिता गुस्से में बोले।

“जैक मैंने हार नहीं चुराया। मैं सच बोल रहा हूँ। जैक तुम इनको बताओ मैं ऐसा नहीं कर सकता।”, रवि की आँखों में पानी भर आता है। अपने मित्र को अपने साथ खड़ा देख रवि भावुक होकर बोलता है।

“मैं सब जानता हूँ। तुम चिंता मत करो। मैं तुम्हें कुछ नहीं होने दूंगा।”, जैक ने रवि के कंधे पर हाथ रखते हुए कहा।

“आपको मुझपर विश्वास नहीं है, तो चलो मेरे साथ सब दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।”, जैक सभी लोगों को अपने साथ एक कमरे में ले जाता है। कमरे में बड़े-बड़े टेलिविज़न लगे हुए हैं। टेलीविजन पर पार्टी की वीडियो चल रही थी। यह सी. सी. टी. वी. कैमरे की रिकार्डिंग है।

जैक बोलता है, “सी. सी. टी. वी. कैमरे की रिकार्डिंग से सब पता चल जाएगा।”

सी. सी. टी. वी. कैमरे की रिकार्डिंग से यह पता चलता है कि हार जैक की माँ ने गलती से खाना लेते हुए टेबल के नीचे गिरा दिया था।

“बेटा मैं तुमसे माफी माँगती हूँ। मुझे माफ कर दो। मैं हाथ जोड़कर माफी माँगती हूँ।”, जैक की माँ रवि से माफी माँगती है।

“नहीं आप को माफी माँगने की जरूरत नहीं है। बड़ों के हाथ आशीर्वाद देने के लिए उठने चाहिए न कि माफी माँगने के लिए।”, रवि उनके हाथ पकड़ कर बोलता है।

रवि अपने दोस्त जैक का धन्यवाद करता है। जैक ने रवि का साथ देकर आज यह साबित कर दिया कि सच्ची मित्रता सभी रिस्तों से बड़ी होती है।

कशिश गोयल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *