अपठित गद्यांश कक्षा – 7 के लिए

1. अवतरण को पढ़कर प्रश्नों के उत्तर दीजिए–

              दिन में मैं चादर लपेटे सोया था। दादी माँ आईं, शायद नहाकर आई थीं, उसी झागवाले जल में। पतले-दुबले स्नेह-सने शरीर पर सफ़ेद किनारीहीन धोती, सन-से सफ़ेद बालों के सिरों पर सद्यः टपके हुए जल की शीतलता। आते ही उन्होंने सर, पेट छुए। आँचल की गाँठ खोल किसी अदृश्य शक्तिधारी के चबूतरे की मिट्टी मुँह में डाली, माथे पर लगाई। दिन-रात चारपाई के पास बैठी रहतीं, कभी पंखा झलतीं, कभी जलते हुए हाथ-पैर कपड़े से सहलातीं, सर पर दालचीनी का लेप करतीं और बीसों बार छू-छूकर ज्वर का अनुमान करतीं। हाँडी में पानी आया कि नहीं? उसे पीपल की छाल से छौंका कि नहीं? खिचड़ी में मूंग की दाल एकदम मिल तो गई है? कोई बीमार के घर में सीधे बाहर से आकर तो नहीं चला गया, आदि लाखों प्रश्न पूछ-पूछकर घरवालों को परेशान कर देतीं।

  • दादी माँ कहाँ से आई थी ?                               
  • दादी के बालों का रंग कैसा था ?                                      
  • दादी ने सर, पेट क्यों छुए ?                              
  • दादी बुखार (ज्वर) को उतारने के लिए क्या – क्या उपाए करती थी ?        
  • दादी घरवाले को कैसे प्रश्न पूछकर परेशान कर देती थी ?

 

2. कविता को पढ़कर नीचे लिखे प्रश्नों के उत्तर दीजिए-

हम पंछी उन्मुक्त गगन के

पिजरबद्ध न गा पाएँगे,

कनक-तीलियों से टकराकर

पुलकित पंख टूट जाएँगे।

हम बहता जल पीनेवाले

मर जाएँगे भूखे-प्यासे,

कहीं भली है कटुक निबौरी

कनक-कटोरी की मैदा से।

स्वर्ण- शृंखला के बंधन में

अपनी गति, उड़ान सब भूले,

बस सपनों में देख रहे हैं

तरु की फुनगी पर के झूले।

ऐसे थे अरमान कि उड़ते

नीले नभ की सीमा पाने,

लाल किरण-सी चोंच खोल

चुगते तारक-अनार के दाने।

होती सीमाहीन क्षितिज से

इन पंखों की होड़ा-होड़ी,

या तो क्षितिज मिलन बन जाता

या तनती साँसों की डोरी।

नीड़ न दो, चाहे टहनी का

आश्रय छिन्न-भिन्न कर डालो,

लेकिन पंख दिए हैं तो

आकुल उड़ान में विघ्न न डालो।

  • कवि का नाम लिखिए।
  • कविता का नाम लिखिए।
  • पिजरबद्ध का क्या अर्थ है ?
  • पक्षी को अपने जीवन के लिए किस प्रकार का जल पीना अच्छा लगता है ?
  • ‘स्वर्ण श्रंखला’ के बंधन में पक्षी क्या भूल जाता है ?
  • पक्षी सपनों में क्या देख रहा है ?
  • पक्षी के क्या अरमान थे ?
  • पक्षी अपनी चोंच से क्या चुगना चाहता है ?
  • पक्षी उड़ते-उड़ते क्या छू लेना चाहता है ?
  • पक्षी ने क्या इच्छा प्रकट की है ?

 

3. अवतरण को पढ़कर नीचे लिखे प्रश्नों के उत्तर दीजिए-

          हड्डियों के बीच के भाग मज्जा में ऐसे बहुत से कारखाने होते हैं जो रक्त कणों के निर्माण-कार्य में लगे रहते हैं। इनके लिए इन कारखानों को प्रोटीन, लौहतत्त्व और विटामिन रूपी कच्चे माल की जरूरत होती है। यह पौष्टिक आहार लेते हो? हरी सब्जी, फल, दूध, अंडा और गोश्त में ये तत्त्व उपयुक्त मात्र में होते हैं। यदि कोई व्यक्ति उचित आहार ग्रहण नहीं करता तो इन कारखानों को आवश्यकतानुसार कच्चा माल नहीं मिल पाता।

 

         प्रायः यह समझा जाता है कि रक्तदान करने से कमजोरी हो जाएगी, कितु यह विचार बिलकुल निराधार है। हमारा शरीर इतना रक्त तो कुछ ही दिनों में बना लेता है। वैसे भी शरीर में लगभग पाँच लीटर खून होता है। इसमें से यदि कुछ रक्त किसी जरूरतमंद व्यक्ति के लिए जीवन-दान बन जाए तो इससे बड़ी बात क्या होगी!य् दीदी समझाते हुए बोलीं।

  • रक्त कणों की रचना कहाँ होती है ?
  • लेखक और पाठ का नाम बताइये ?
  • रक्त निर्माण के लिए किस कच्चे माल की आवश्यकता होती है ?
  • रक्त के लिए कच्चा माल न मिलने पर क्या होता है ?
  • रक्तदान करने के बाद रक्त की कमी किस प्रकार पूरी हो जाती है ?

 

4. अवतरण को पढ़कर नीचे लिखे प्रश्नों के उत्तर दीजिए-

              संतुलित आहार लेने मात्र से हम एनीमिया से बचे रह सकते हैं, यह कहना काफ़ी हद तक सही है। यों तो एनीमिया बहुत से कारणों से हो सकता है, किन्तु हमारे देश इसका सबसे बड़ा कारण पौष्टिक आहार की कमी है। इसके अलावा इस रोग का एक और बड़ा कारण है पेट में कीड़ों का हो जाना। ये कीड़े प्रायः दूषित जल और खाद्य पदार्थों द्वारा हमारे शरीर में प्रवेश करते हैं। अतः इससे बचने के लिए यह आवश्यक है कि हम पूरी सफाई से बनाए गए खाद्य पदार्थ को ग्रहण करें। भोजन करने से पूर्व अच्छी तरह से हाथ धो लें और साफ़ पानी ही पिएँ। और हाँ, एक किस्म के कीड़े भी हैं, जिनके अंडे ज़मीन की ऊपरी सतह में पाए जाते हैं। इन अण्डों से उत्पन्न हुए लार्वे त्वचा के रास्ते शरीर में प्रवेश कर आँतों में अपना घर बना लेते हैं। इनसे बचने का सहज उपाय है कि शौच के लिए हम शौचालय का ही प्रयोग करें और इधर-उधर नंगे पैर न घूमें।

  • भारतवर्ष में एनीमिया का मुख्य कारण क्या है ?
  • पेट में कीड़ों के होने के कारण क्या कारण हैं ?
  • नंगे पैर घूमने से क्या होता है ?
  • एनीमिया से बचने के चार उपाए लिखो

 

हिन्दी की पाठ्यपुस्तक पर आधारित अपठित गद्यांश के नीचे दिए गए हैं।

अकबरी लोटा

अक्षरों का महत्त्व

चिट्ठियों की अनूठी दुनिया

जैसा सवाल वैसा जवाब

टिकट अलबम

दादी माँ

पानी की कहानी

बिशन की दिलेरी

भगवान के डाकिए

मन करता है

झब्बर-झब्बर बालों वाले

मिर्च का मज़ा

मीरा बहन और बाघ

रक्त और हमारा शरीर

राख की रस्सी

लाख की चूड़ियाँ

लोकगीत

वीर कुँवर सिंह

सबसे अच्छा पेड़

साथी हाथ बढ़ाना

सूरदास के पद

हिमालय की बेटियाँ

6 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *