VII 2015-16 (Hindi)

E1 Assessment (2015-16)

Class – VII
Subject – Hindi
पूर्णांक : 80                                  
समय : 2 घण्टे
नोट – सभी प्रश्न अनिवार्य हैं

 

परीक्षार्थी का नाम –
दिनांक –
 
 
निरीक्षक के हस्ताक्षर –
प्राप्त अंक –

 1. निम्नलिखित प्रश्नों के उचित विकल्प चुनकर लिखिए-

क) पत्र में क्या लिखा था ? (दादी माँ)

(A) माँ बीमार है

(B) दादी माँ बीमार है

(C) दादी माँ नहीं रही

(D) घर आ जाओ

 

ख) लेखक तालाब के झागदार पानी में नहाने का अधिक मजा नहीं ले सका, क्यों ?

(A) पानी बदबूदार होने के कारण

(B) डूबने के डर के कारण

(C) बीमार होने के कारण

(D) दादी माँ के मना करने के कारण

 

ग) हिमालय की बेटियां किन्हें कहा गया है ?

 

(A) पहाड़ियों को

(B) चोटियों को

(C) नदियों को

(D) बर्फ की टुकड़ियों को

 

घ) हिमालय की बेटियां पाठ के लेखक का क्या नाम है ?

(A) रामानुज

(B) नागार्जुन

(C) शिवप्रसाद सिंह

(D) शिवमंगल सिंह

 

ङ) कठपुतली के मन में कौन-सी इच्छा जगी ?

(A) नाचने की

(B) गीत गाने की

(C) स्वतंत्र होने की

(D) खाने की

 

च) अपने धागों के बारे में कठपुतली क्या कहती है ?

(A) रंग बिरंगा करने को

(B) कमजोर करने को

(C) मजबूत करने को

(D) तोड़ देने को

 

छ) ‘खिलौनेवाला अपनी खिलौनों की पेटी कहाँ खोल देता था ?

(A) गलियों में

(B) पार्क में

(C) बच्चों के झुण्ड के बीच

(D) लोगों के बीच

 

ज) रोहणी को खिलौनेवाले का स्मरण कब हो आया ?

(A) चुन्नू-मुन्नू का खिलौना देखकर

(B) सस्ती मुरली देखकर

(C) मुरली वाले को देखकर

(D) खिलौनेवाले का मादक स्वर सुनकर

झ) दिव्या अनिल के साथ अस्पताल क्यों गई ?

(A) थकान महसूस होने से

(B) काम में मन न लगने से

(C) भूख कम लगने से

(D) उपर्युक्त सभी

ञ) डाक्टर ने इलाज से पहले क्या करना चाहा ?

(A) वजन

(B) एक्स रे

(C) खून की जांच

(D) अल्ट्रासाउंड

[अंक – 10]

2. निम्लिखित काव्यांश की सप्रसंग व्याख्या कीजिए-

हम पंछी उन्मुक्त गगन के पिजरबद्ध न गा पाएँगे,

कनक-तीलियों से टकराकर पुलकित पंख टूट जाएँगे।

हम बहता जल पीनेवाले मर जाएँगे भूखे-प्यासे,

कहीं भली है कटुक निबौरी कनक-कटोरी की मैदा से।

[अंक-7]

 

3. निम्नलिखित गद्यांश की सप्रसंग व्याख्या कीजिए-

      किशन भैया की शादी ठीक हुई, दादी माँ के उत्साह और आनंद का क्या कहना! दिनभर गायब रहतीं। सारा घर जैसे उन्होंने सर पर उठा लिया हो। पड़ोसिनें आतीं। बहुत बुलाने पर दादी माँ आतीं, “बहिन बुरा न मानना। कार-परोजन का घर ठहरा। एक काम अपने हाथ से न करूँ, तो होनेवाला नहीं।“

जानने को यों सभी जानते थे कि दादी माँ कुछ करतीं नहीं। पर किसी काम में उनकी अनुपस्थिति वस्तुतः विलंब का कारण बन जाती।

[अंक-6]

 

4. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर लगभग 70 शब्दों में दीजिए-

(क) दादा की मृत्यु के बाद लेखक के घर की आर्थिक स्थिति ख़राब क्यों हो गयी थी?

(ख) पक्षियों को पालना उचित है अथवा नहीं? अपना विचार लिखिए।

(ग) खून को ‘भानुमती का पिटारा’ क्यों कहा जाता है? 

(घ) मिठाईवाला अलग-अलग चीज़ें क्यों बेचता था और वह महीनों बाद क्यों आता था?

(ङ) पेट में कीड़े क्यों हो जाते हैं? इनसे कैसे बचा जा सकता है?    

[अंक-15]

 

5. कविता को पढ़कर नीचे लिखे प्रश्नों के उत्तर दीजिए-

हम पंछी उन्मुक्त गगन के

पिजरबद्ध न गा पाएँगे,

कनक-तीलियों से टकराकर

पुलकित पंख टूट जाएँगे।

हम बहता जल पीनेवाले

मर जाएँगे भूखे-प्यासे,

कहीं भली है कटुक निबौरी

कनक-कटोरी की मैदा से।

स्वर्ण- शृंखला के बंधन में

अपनी गति, उड़ान सब भूले,

बस सपनों में देख रहे हैं

तरु की फुनगी पर के झूले।

ऐसे थे अरमान कि उड़ते

 

नीले नभ की सीमा पाने,

लाल किरण-सी चोंच खोल

चुगते तारक-अनार के दाने।

होती सीमाहीन क्षितिज से

इन पंखों की होड़ा-होड़ी,

या तो क्षितिज मिलन बन जाता

या तनती साँसों की डोरी।

नीड़ न दो, चाहे टहनी का

आश्रय छिन्न-भिन्न कर डालो,

लेकिन पंख दिए हैं तो

आकुल उड़ान में विघ्न न डालो।

 

  1. पक्षी कैसे रहन पसंद करते हैं ?
  2. पक्षी कहाँ नहीं गा पाएंगे ?
  3. पक्षियों को कड़वी निबौली किससे अच्छी लगती है ?
  4. पक्षी पिंजरे में बंद होकर क्या भूल गए हो ?
  5. ‘स्वर्ण श्रंखला’ के बंधन में पक्षी क्या भूल जाता है ?
  6. पक्षी सपनों में क्या देख रहा है ?
  7. पक्षी के क्या अरमान थे ?

[अंक – 7]

6. अवतरण को पढ़कर नीचे लिखे प्रश्नों के उत्तर दीजिए-

मैं हैरान था कि यही दुबली-पतली गंगा, यही यमुना, यही सतलुज समतल मैदानों में उतरकर विशाल कैसे हो जाती हैं! इनका उछलना और कूदना, खिलखिलाकर लगातार हँसते जाना, इनकी यह भाव-भंगी, इनका यह उल्लास कहाँ गायब हो जाता है मैदान में जाकर? किसी लड़की को जब मैं देखता हूँ, किसी कली पर जब मेरा ध्यान अटक जाता है, तब भी इतना कौतूहल और विस्मय नहीं होता, जितना कि इन बेटियों की बाललीला देखकर!

खेलते-खेलते जब ये जरा दूर निकल जाती हैं तो देवदार, चीड़, सरो, चिनार, सफेदा, कैल के जंगलों में पहुँचकर शायद इन्हें बीती बातें याद करने का मौका मिल जाता होगा। कौन जाने, बुइा हिमालय अपनी इन नटखट बेटियों के लिए कितना सिर धुनता होगा! बड़ी-बड़ी चोटियों से जाकर पूछिए तो उत्तर में विराट मौन के सिवाय उनके पास और रखा ही क्या है?

  1. यह अवतरण किस पाठ से लिया गया है ?
  2. लेखक हैरान क्यों था ?
  3. पहाड़ पर नदियों का कौन-सा रूप देखने को मिलता है ?
  4. मैदान में नदियों के रूप में क्या-क्या बदलाव आ जाते हैं ?
  5. यहाँ बेटियाँ किन्हें और क्यों कहा गया है ?
  6. नदियाँ खेलते खेलते कहाँ पहुँच जाती हैं ?
  7. नदियाँ जंगलों में पहुँच कर कौनसी बातें याद करती होंगी ?
  8. हिमालय किसके लिए अपना सिर धुनता होगा ?
  9. बड़ी-बड़ी चोटियाँ नदियों के विषय में क्या कोई उत्तर देती हैं ?

[अंक – 9]

 7. संधि किसे कहते हैं ? उदाहरण सहित समझाओ ?

8. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए –

(क) गिरि + ईश (इ+ई=ई) की संधि क्या होगी ?

(ख) वधू + उत्सव (ऊ+उ=ऊ) की संधि क्या होगी ?

(ग) ज्ञान + उपदेश (अ+उ=ओ) की संधि क्या होगी ?

(घ) वन + ओषधि (अ+ओ=औ) की संधि क्या होगी ?

(ङ) नर + ईश (अ+ई=ए) की संधि क्या होगी ?

(च) मत + ऐक्य (अ+ऐ=ऐ) की संधि क्या होगी ?

(छ) ‘नदीश’ (ई+ई=ई) का संधि-विच्छेद क्या होगा ?

(ज) ‘भानूदय’ (उ+उ=ऊ) का संधि-विच्छेद क्या होगा ?

(झ) ‘महेश’ (आ+ई=ए) का संधि-विच्छेद क्या होगा ?

(ञ) ‘सदैव’ (आ+ए=ऐ) का संधि-विच्छेद क्या होगा ?

(ट) ‘स्वागत’ (उ+आ=वा) का संधि-विच्छेद क्या होगा ?

(ठ) भाषा की सबसे छोटी ध्वनि क्या कहलाती है ?

(A) शब्द

(B) अवतरण

(C) वर्ण

(D) वाक्य

[अंक – 12]

9. ‘मिठाईवाला’ कहानी लगभग 200 से 220 शब्दों में लिखो –

[अंक 10]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *