स्वर्ण का अर्थ

स्वर्ण का अर्थ

स्वर्ण का अर्थ है – कनक, ज़र, तपनीय, सोना, दीप्तक, सोना, औजस, सोना, पिंजाल, सोना, कर्बुर, जल, सोना, रंग-बिरंगा, पाप, कचूर, चितकबरा, धतूरा, राक्षस, कनक, टेसू, सोना, खजूर, पलाश, नागकेसर, अनाज, धतूरा, ढाक, रुक्म, नागकेशर, सोना, लोहा, धतूरा, कंचन, धन-संपत्ति, सोना, निर्मल, स्वस्थ, मनोहर, धन-दौलत, निरोग, सुवर्ण, सोना, सुनहला, दाक्षायण, सोना, स्वर्णाभूषण, गेरू, गैरिक, गेरुआ, सोना, शस्त्र, आयुध, हथियार, सोना, राजहंस, कांचन, सोना, गोल्ड, ज़ंजीर, फ़ौज, कटक, चटाई, शृंखला, कंकड़, सोना, निष्क।

ध्यान दें – प्रत्येक शब्द की महत्ता विषय के अनुसार होती है। एक ही शब्द के समानार्थी शब्द समय और विषय के अनुसार अलग-अलग अर्थ प्रकट कर सकते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More